Search This Blog

Friday, May 25, 2018

Inter ke bad kya kare, career options after Inter in hindi

हेलो दोस्तो, आज हम आपको बताएंगे कि इंटर के बाद क्या करें| जब हम इंटर पास कर लेते हैं तो बड़ा कंफ्यूजन रहता है, कि इंटर के बाद क्या करें ? कौन सा कोर्स लें ? इंटर तो हम नॉर्मली पास कर लेते हैं, इंटर तक तो कोई गौर नहीं करते हैं| इंटर के बाद क्या करना चाहिए, ये हमारा सबसे बड़ा डिसीजन होता है| इसलिए नीचे हमने "इंटर के बाद किस साइड से कौन सा कोर्स करना चाहिए" की पूरी जानकारी दी है|
Inter ke bad kya kare, career options after Inter in hindi, 12th commerce ke bad kya kare, 12th ke bad kya kare, 12th badijya ke Bad kya kare, 12th arts ke bad job, 12th pass ke bad kya kare hindi me

दोस्तो, यदि आप ऐसी ही वीडियो youtube पर देखना चाहते हैं, तो नीचे दी नीली लाइन पर क्लिक करें, अपना ही चैनल है subscribe भी कर लेना,

Watch on YouTube

तो दोस्तों शुरू करते हैं-

[1]. जब साइंस साइड से हों (For science side) 

इंटर में साइंस साइड वही छात्र लेते हैं, जो हाईस्कूल में ज्यादा होशियार होते हैं| साइंस साइड को 3 ग्रुपों में बांटा गया है| इन तीनों ग्रुपों में किए जाने वाले कोर्स की जानकारी नीचे दी गई है|

 1. PCM Group

PCM का मतलब होता है- Physics, Chemistry, Mathe. मतलब इंटर में जब आपने साइंस साइड में मैथ लिया हो, तब क्या करें ? इसके लिए बहुत से कोर्स हैं, जिनकी क्रमवार जानकारी नीचे दी गई है|

B.E.

B.E. का फुल फॉर्म होता है- Bachelor of Engineering. B. E. 4 साल की होती है| B. E. में जो फील्ड होते हैं, वे इस प्रकार हैं-
chemical, civil, computer, electric, electronic, mechanical,

software engineer, web developer, multimedia designer, database administrator,

printing, plastic and polymer, telecommunication, textile,

computer hardware and networking

B.Tech

B.Tech की फुल फॉर्म Bachelor of Technology होती है| यह 4 वर्ष की होती है| B.Tech के लिए इंटर में Physics व Maybe अनिवार्य हैं तथा केमिस्ट्री की जगह बायोलोजी, कंप्यूटर या अन्य कोई विषय ले सकते हैं| तथा इसके लिए Joint Entrance Exam (JEE) जरूरी है|

B.Sc

B.Sc की फुल फॉर्म  Bachelor of Science होती है तथा यह 3 साल की होती है|

NDA

NDA की फुल फॉर्म National Defence Academy होती है| अगर आप 12वीं के बाद इंडियन आर्मी, इंडियन एयरफोर्स या इंडियन नेवी में नौकरी करना चाहते हैं, तो आप की तैयारी कर सकते हैं|

ये भी पढें :

NDA क्या है, NDA की तैयारी कैसे करें,


2. PCB Group

PCB की फुल फॉर्म Physics, Chemistry, Biology होती है मतलब यदि आपने इंटर साइंस साइड में बायोलॉजी से की है, तब आप क्या कर सकते हैं ? तब आप निम्न कोर्स कर सकते हैं|

Medical

यदि आपको मेडिकल फील्ड में जाना है, तो इसके लिए आपको MBBS के लिए एडमिशन लेना है| एडमिशन लेने के लिए इंटर में आपके 85% मार्क होना जरूरी है तथा बहुत से एंट्रेंस एग्जाम भी देने होते हैं| मेडिकल फील्ड में भी बहुत से ऑप्शन है जो इस प्रकार हैं-

1. BHMS- Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery
2. B.Sc Nursing
3. BAMS- Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery
4. D. Pharmacy
5. B. Pharmacy
6. BDS- Bachelor of Dental Surgery

B.Sc

B.Sc की फुल फॉर्म Bachelor of Science है तथा यह 3 साल की होती है|

BCS

BCS की फुल फॉर्म Bachelor of Computer Science है तथा यह 3 साल की होती है|

3. PCMB Group

ये भी पढें :

शॉर्ट मूवी कैसे बनायें और उससे पैसे कैसे कमायें

 PCMB की फुल फॉर्म Physics, Chemistry, Mathe, Biology होती है मतलब PCMB ग्रुप वाले दोनों तरफ जा सकते हैं|मेडिकल फील्ड में भी तथा इंजीनियरिंग फील्ड में भी|

[2]. जब आर्ट साइड से हों (For Art Side) 

जब आपने इंटर आर्ट साइड से पास की हो तब आपके सामने निम्न कोर्स के ऑप्शन होते हैं|

BCA

BCA की फुल फॉर्म Bachelor of Computer Application होती है तथा यह 3 साल की होती है| कंप्यूटर में इंटरेस्ट रखने वाले व्यक्ति इसे कर सकते हैं|

BBA

BBA की फुल फॉर्म Bachelor of Business Administration होती है तथा यह 3 साल की होती है| यदि आप बिजनेस के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं तो आप यह कोर्स कर सकते हैं तथा BBA के बाद आप MCA कर सकते हैं|

B.A.

B.A. की फुल फॉर्म Bachelor of Arts होती है तथा  यह 3 साल की होती है| यदि आप अपना करियर साहित्य, हिस्ट्री आदि में बनाना चाहते हैं, तो आप B.A. कर सकते हैं| B.A. के बाद आप M.A. कर सकते हैं|

LLB (Law)

इंटर के बाद आप आर्ट साइड से Law (लॉ) के लिए एडमिशन ले सकते हो|

Hotel Management

यह कोर्स 3 साल का होता है| इसे आप किसी अच्छे कॉलेज से कर सकते हैं|

Mass Communication

ये भी पढें :

सिविल इंजीनियर कैसे बनें,

यदि आपका इंटरेस्ट मीडिया, रिपोर्टिंग में है, तो आप Mass Communication कर सकते हैं| इसे करने के बाद आपकी टीवी शोज् या फिल्मों में जॉब लग सकती है|

BSW

BSW का फुल फॉर्म Bachelor of Social Work है| यदि आप इंटरेस्ट सोशल वर्क करने में है, तो आप कर सकते हैं|

[3]. जब कॉमर्स से हों (For Commerce) 

वे स्टूडेंट कॉमर्स लेते हैं, जिनका मैथ अच्छा होता है| कॉमर्स के लिए निम्न ऑप्शन हैं-

CA

CA का फुल फॉर्म Chartered Accountant होता है| CA का काम टेक्स एडवाइज देना, कंपनी की ऑडिट करना आदि होता है|

B.Com

B.Com की फुल फॉर्म Bachelor of Commerce होती है तथा यह 3 साल की होती है| B.Com के बाद आप मास्टर डिग्री यानी M.Com कर सकते हैं|

Banking

कॉमर्स के स्टूडेंट के लिए बैंकिंग एक अच्छा ऑप्शन है| कॉमर्स के स्टूडेंट बैंकिंग की एग्जाम देकर बैंक में जॉब हासिल कर सकते हैं|

Company Secretary

यदि आप किसी कंपनी के सेक्रेटरी बनना चाहते हैं, तो आप ये कोर्स कर सकते हैं|

BBA

BBA का फुल फॉर्म Bachelor of Business Administration होता है तथा यह 3 साल का होता है| यदि  आप बिजनेस के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं, तो आप यह कोर्स कर सकते हैं|

[4]. जब किसी भी साइड से हों (For Every Side) 

यदि आप DM, IAS, IPS, IRS आदि बनना चाहते हैं, तो आप UPSC का इंट्रैस एग्जाम दे सकते हैं| इसके लिए ग्रेजुएशन होना जरूरी है, मतलब यह एग्जाम आप डायरेक्ट इण्टर के बाद नहीं दे सकते|

तो दोस्तों, आपको यह जानकारी कैसी लगी, कमेंट में बताएं और यदि आपका कोई सवाल है तो आप उसे भी कमेंट में पूछ सकते है| आपको किस टॉपिक पर जानकारी चाहिए यह भी आप कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं|
तो दोस्तों, अब आप इस ब्लॉग को subscribe करिए और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करिये|
Thanks for read,

ये भी पढें :

अपना करियर कैसे चुनें, हिन्दी में

Thursday, May 24, 2018

Bhavana Pani Saree Navel



Business kaise kare, businessman kaise bane hindi me

हेलो दोस्तो, आज हम आपको बताएंगे कि अपना "बिजनेस कैसे करें, बिजनेसमैन कैसे बनें हिन्दी में" ? हम में से बहुत से लोग अपना बिजनेस तो करना चाहते हैं, परंतु घाटे के डर की वजह से बिजनेस नहीं करते| बिजनेस को यदि अच्छे प्लान व लगन से किया जाए, तो फेल होने के चांस न के बराबर होते हैं|
Business kaise kare,  businessman kaise bane hindi me, khud ka business kaise kare, kam paiso me business kaise kare,  ghar me kaun sa business kare, ready-made kapdo ka business kaise kare, business karne ka tarika, kya vyapar kare,

दोस्तो, यदि आप ऐसी ही वीडियो youtube पर देखना चाहते हैं, तो नीचे दी नीली लाइन पर क्लिक करें, अपना ही चैनल है subscribe भी कर लेना,

Watch on YouTube

इस संसार में हर व्यक्ति चाहता है कि उसका खुद का बिजनेस है, खुद का काम हो और खुद की ही आमदनी हो| बिजनेस करना एक रिस्क से भरा काम होता है| बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो जॉब कर रहे होते हैं, परंतु अपना मनपसंद काम न होने के कारण जॉब को छोड़ना चाहते हैं और बिजनेस करना चाहते हैं, परंतु बिजनेस में असफल होने के डर से बिजनेस करना प्रारंभ नहीं करते|
अब बात आती है कि बिजनेस कैसे करें, जिससे असफलता के चांस न रहें| तो इसके लिए हमें नीचे बहुत सी बातें बतायी हैं| यदि आप उन्हें फॉलो करते हो, तो मुझे विश्वास है कि आप अपने बिजनेस में जरूर सफल होगें|
तो दोस्तो बात करते हैं-

[1]. बिजनेस क्या है ? (What is business ?)

पैसे से पैसे कमाना ही बिजनेस है, परंतु बात यहीं खत्म नहीं होती| बिजनेस मुख्यतः दो प्रकार का होता है| एक कोई प्रोडक्ट बनाकर बेचना और दूसरा कोई सेवा देना| दोनों में रिस्क है, परंतु पहला थोड़ा कठिन है जबकि दूसरा सरल| यदि आप कोई प्रोडक्ट बनाकर बेचते हैं तो इसमें आपको ज्यादा पैसा खर्च करना पड़ेगा| अब बात करते हैं दूसरे स्टेप की|

[2]. बिजनेस की योजना (Business plan)

किसी भी बिजनेस को सफल बनाने के लिए प्लान की सख्त जरूरत होती है| अपना बिजनेस प्लान कुछ इस तरह बनायें कि आप किसका बिजनेस करना चाहेंगे और क्यों ? आपके बिजनेस का उद्देश्य क्या होगा ? क्या आपका बिजनेस आइडिया औरों से हटके है ? बिजनेस आइडिया का मतलब होता है, ऐसे विचार जिनसे हमें लगता है कि हमें ये बिजनेस करना चाहिए| अपने बिजनेस आइडिया के अनुसार ही अपना बिजनेस प्लान बनायें|

[3]. बिजनेस की रणनीति (Business strategy)

ये भी पढें :

सिविल इंजीनियर कैसे बनें,

बिजनेस की रणनीति के तहत उन बातों को नोट करें, जो आपको बिजनेस करते समय फेस करनी पड़ेगीं| बिजनेस की रणनीति में आप लिख सकते हैं कि आपके यहां कितने लोग काम करेंगे ? आप कितने प्रोडक्ट का उत्पादन करेंगे ? आपके ग्राहक कौन होंगे ? बिजनेस को सफल बनाने के लिए अत्यधिक मेहनत और दिमाग की जरूरत होती है| जो लोग अपने बिजनेस की अच्छी रणनीति बना लेते हैं, वे जल्दी सफल हो जाते हैं|

[4]. बिजनेस के लिए जगह (Business location)

यदि आप किसी प्रोडक्ट का उत्पादन करना चाहते हैं, तो आप देखें कि कहां पर कच्चा माल आसानी से उपलब्ध है तथा किस जगह से उत्पादित माल दूसरी जगहों पर आसानी से भेजा जा सकता है, तो उसी के अनुसार अपने बिजनेस के लिए जगह तलाशें|
यदि आप कोई सेवा दे रहे हैं| जैसे- माना आपका कोई होटल है, तब आप भीड़ वाली जगहों पर (जैसे-मार्केट) अपने बिजनेस को करें|
यदि आपका बिजनेस कंप्यूटर या इंटरनेट से रिलेटेड है तो जगह ज्यादा मायने नहीं रखती है| जैसे यदि आपका बिजनेस वेब डिजाइनिंग, SEO, एंड्रॉइड ऐप बनाना आदि और इसी से रिलेटेड है, तो आप अपना ये बिजनेस कहीं से भी कर सकते हैं|

[5]. फंडिंग (Funding)

क्या आपके पास बिजनेस के लिए पर्याप्त धन है ? यदि है, तब तो कोई प्रॉब्लम नहीं है| यदि नहीं है, तब आप क्या करेंगें ? अपने किसी दोस्त या रिश्तेदार से उधार लेंगे या बैंक से लोन लेंगे| बिजनेस के लिए बैंक से लोन लेना सबसे अच्छा उपाय है, क्योंकि इस पर ब्याज भी बहुत कम लगती है तथा आसानी से मिल भी जाता है| सबसे पहले तय करें कि आपके बिजनेस में कितना पैसा लग सकता है, एक बजट बनाएं, उसी के अनुसार लोन लें ?

[6]. मार्केट रिसर्च (Market research)

क्या आप जिस प्रोडक्ट का उत्पादन कर रहे हैं, उसकी बाजार में मांग है भी या नहीं| या आप जिस सेवा को प्रोवाइड कर रहे हैं, उसकी लोगों को जरूरत है भी या नहीं, इसका पता लगाना ही मार्केट रिसर्च कहलाता है| बिजनेस उसी का करें, जिसकी बाजार में मांग हो| मुझे उम्मीद है कि आप मार्केट रिसर्च को समझ चुके हो|

[7]. बिजनेस की रूपरेखा (Business structure)

ये सब काम करने के बाद अब बात आती है, अपने बिजनेस की संपूर्ण रूपरेखा बनाना| जैसे- प्रोडक्ट क्या होगा ? कितने लोग काम करेंगे ? कितने रुपयों का खर्चा होगा ? कौन सी जगह सही रहेगी ? कितने की लोन ली जाएगी आदि| ये सभी बातें बिज़नेस स्ट्रक्चर के तहत नोट कर लें, जिससे बिजनेस के दौरान आपको प्रॉब्लम ना आए|

[8]. लाइसेंस (Licence)

ये भी पढें :


जब हम कोई सर्विस प्रोवाइड करते हैं या कोई प्रोडक्ट का उत्पादन करते हैं, तब हमें लाइसेंस की जरूरत पड़ती है, जिससे सरकार को पता चल सके कि हम क्या कर रहे हैं| इसलिए अपने सभी जरूरी लाइसेंस बनवा लें, इससे आपको फायदा भी है|

[9]. अपना बिजनेस प्रारंभ करें (Start your business)

अब समय आ गया है, बिजनेस स्टार्ट करने का| आपने जो भी जगह सलेक्ट की है, वहाँ सभी जरूरतमंद मशीनें लगवाएं| काम करने के लिए मजदूरों को एकत्रित करें| कच्चे माल को भी एकत्रित करें और इस प्रकार सभी आवश्यकताएँ पूरी हो जाने के बाद अपना बिजनेस प्रारंभ कर दें|

[10]. ब्रांड एंड मार्केटिंग (Brand and marketing)

ये भी पढें :

अपना करियर कैसे चुनें, हिन्दी में


अब आपने जो भी बिजनेस प्रारंभ किया है, उसे एक ब्रांड बनाएं| लोग उसे उसके नाम से जानें| अपनी एक अलग पहचान बनाएँ और उत्पादित माल को शीघ्र ही अन्य बिजनेसमैन को सेल करें|

[11]. विज्ञापन करें (Advertisement)

आप अपने बिजनेस का दो तरह से विज्ञापन कर सकते हो| एक ऑनलाइन और दूसरा ऑफलाइन| ऑनलाइन आप सोशियल साइट्स जैसे- Facebook, twitter, instagram, LinkedIn, Pinterest, whatsApp आदि का सहारा लेकर ऑनलाइन अपने बिजनेस को प्रमोट कर सकते हो| ऑफलाइन आप न्यूज़पेपर का सहारा ले सकते हो तथा अपने बिजनेस के कार्ड छपवा सकते हो, तो इसी तरह आप अपने बिजनेस को प्रमोट करें|

[12]. लीडरशिप (Leadership)

एक लीडर की तरह अपने बिजनेस के सभी कार्यकर्ताओं को निर्देश व सुझाव देते रहें| अपने बिजनेस को अपडेट करते रहें, मतलब जो भी कमी हो, उसे दूर करते रहें| और अपने बिजनेस में काम करने वालों के साथ एक पार्टनर की तरह व्यवहार करें|
इस प्रकार आप जल्दी ही सफलता की सीढ़ियां चढ़ते चले जाएंगे और धीरे-धीरे आप भी एक बड़ी कंपनी के मालिक होंगे, ऐसी हमें उम्मीद है|

तो दोस्तो, आपको यह पोस्ट "बिजनेस कैसे करें, बिजनेसमैन कैसे बनें हिन्दी में" कैसी लगी, कमेंट में बताएं और यदि आपका कोई सवाल है तो आप उसे भी कमेंट में पूछ सकते है| आपको किस टॉपिक पर जानकारी चाहिए यह भी आप कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं|
तो दोस्तो, अब आप इस ब्लॉग को subscribe करिए और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करिये|
Thanks for read,

ये भी पढें :

पॉलीटेक्निक डिप्लोमा क्या है, इसमें करियर कैसे बनायें

Friday, May 18, 2018

NDA ki taiyari kaise kare, study tips hindi me

दोस्तो, आज हम आपको बताएँगे कि आप "NDA की तैयारी कैसे करें, स्टडी टिप्स हिन्दी में"| जीवन में हर किसी का कोई ना कोई सपना जरूर होता है| किसी का सपना होता है कि वह नेवी में जॉब करे, तो किसी का सपना होता है कि आर्मी में जॉब करे| परंतु जानकारी के अभाव में ये सपने पूरे नहीं हो पाते| बहुत से छात्र तो ऐसे होते हैं जो 11वीं में विषय चुनते समय बिल्कुल भी ध्यान नहीं देते, परंतु जब बाद में बिना रुचि वाली विषयों को ले लेते हैं, तब पछताते हैं|
NDA ki taiyari kaise kare, study tips hindi me, NDA ki taiyari kaise kare, nda ki taiyari, NDA exam ki taiyari kaise kare, NDA salary, NDA syllabus, nda kya hai,

दोस्तो, यदि आप ऐसी ही वीडियो youtube पर देखना चाहते हैं, तो नीचे दी नीली लाइन पर क्लिक करें, अपना ही चैनल है subscribe भी कर लेना,

Watch on YouTube

इसलिए दोस्तो आज हम आपको बताएंगे कि आप किस प्रकार NDA की तैयारी करें तथा NDA के लिए क्या-क्या योग्यता चाहिए|
तो दोस्तों शुरू करते हैं-

[1]. NDA क्या है ? (What is NDA ?)

NDA का फुल फॉर्म है- National Defence Academy (नेशनल डिफेन्स अकादमी) | क्या आप आर्मी में भर्ती होना चाहते हैं, या एयरफोर्स में जॉब करना चाहते हैं, या नेवी में जॉब करना चाहते हैं, यदि हां| तो NDA आपके लिए ही है| NDA कोर्स करके आप आर्मी, नेवी, या एयरफोर्स में जॉब कर सकते हैं|

[2]. योग्यता (Ability)

NDA एग्जाम को पास करने के लिए आपके पास कुछ योग्यता होनी चाहिए| जो इस प्रकार है-

1. आप अविवाहित होने चाहिए, मतलब शादीशुदा व्यक्ति इस एग्जाम में नहीं बैठ सकते|
2. यदि आप आर्मी में भर्ती होना चाहते हैं, तो आप किसी भी विषय से इंटर पास होने चाहिए|

3. यदि आप एयरफोर्स या नेवी में जाना चाहते हैं, तो आप साइंस साइड से मैथ से इंटर पास होने चाहिए|

4. आपकी कम से कम लंबाई 157 सेमी० होनी चाहिए|

5. आप शरीर से पूर्ण रुप से स्वस्थ होने चाहिए और शारीरिक फिटनेस भी अच्छी होनी चाहिए, जिससे फिजिकल एग्जाम पास कर सकें|

6. आपकी उम्र 16.5 से 19 साल के बीच होनी चाहिए|

[3]. एनडीए प्रवेश परीक्षा (NDA Entrance Exam)

जैसे ही आप इंटर पास कर लें, उसके बाद NDA का फॉर्म अप्लाई करें| आप इंटर के साथ-साथ भी NDA का फॉर्म अप्लाई कर सकते हैं, परंतु इसके लिए ज्यादा मेहनत की जरूरत होती है| NDA का एग्जाम 1 साल में दो बार होता है| यह एग्जाम UPSC करवाती है| यह एग्जाम अप्रैल और सितंबर में होता है तथा इसके फॉर्म हर साल जून और दिसंबर में निकलते हैं| NDA एंट्रेंस एग्जाम के फॉर्म को आप UPSC की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन भी भर सकते हो| तो दोस्तो, सबसे पहले आप इस एग्जाम को क्लियर करें|

[4]. इंटरव्यू (Interview)

ये भी पढें :
पॉलीटेक्निक डिप्लोमा क्या है, इसमें करियर कैसे बनायें

जैसे ही आप एनडीए का एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करोगे, उसके बाद आपको (SSB) इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा| इंटरव्यू में भी कई तरह के टेस्ट लिए जाते हैं| जैसे- फिजिकल टेस्ट, एप्टी टेस्ट, ग्रुप डिस्कशन, पर्सनल इंटरव्यू| ये सभी प्रकार के टेस्ट आपको क्लियर करने होंगे, तभी आप NDA का कोर्स कर पाएंगे|

[5]. तैयारी कैसे करें ?

1. दोस्तो, तैयारी करने का बेस्ट तरीका है- सेल्फ स्टडी| सेल्फ-स्टडी के अंतर्गत हम जो कुछ भी सीखते हैं, उसे लाँग टर्म याद रख सकते हैं, मतलब उसे जल्दी भूलते नहीं हैं|

2. ये तरीका सबसे सरल है, आप NDA की किताबें खरीद लें, और उनसे तैयारी करें|

3. जो व्यक्ति नेवी या एयरफोर्स में जाना चाहते हैं, उनका गणित और भौतिक विज्ञान मजबूत होना चाहिए| इसके लिए आप ग्यारहवीं और बारहवीं के गणित व भौतिकी के विषयों का अच्छी तरह से अध्ययन करें|

4. परीक्षा में ज्यादातर पुराने प्रश्न ही लिए जाते हैं, इसलिए पुराने प्रश्नपत्रों व मॉडल पेपरों को हल करें|

5. आजकल हर चीज ऑनलाइन उपलब्ध है| आपको YouTube पर NDA के बारे में बहुत सी वीडियो मिल जाएंगी, उनसे तैयारी करें|

6. यदि आपका बजट अच्छा है, तो आप कोचिंग ज्वाइन कर सकते हो|

7. तैयारी करने में टाइम टेबल का बहुत बड़ा योगदान होता है| इसलिए एक अच्छा टाइम टेबल बनायें और उसी के अनुसार तैयारी करें|
8. तैयारी के साथ-साथ अपने शरीर का भी ध्यान रखें, क्योंकि NDA में फिजिकल टेस्ट भी होता है, जहां बहुत से विद्यार्थी असफल हो जाते हैं|

9. उचित समय का इंतजार ना करें, पढ़ाई करने के लिए उचित समय कभी नहीं आता, समय को उचित बनाना पड़ता है|

10. समय को फालतू बर्बाद ना करें, क्योंकि बीता हुआ समय वापस नहीं आता, जिसका सीधा सीधा फर्क हमारे इंट्रैस एग्जाम पर पड़ता है|

11. मैंने पिछली बार भी कहा था, इस बार भी कह रहा हूं, कि नेगेटिविटी से दूर रहें| पॉजिटिव सोचें और खुश रहें| धूम्रपान से दूर रहें, ये परिस्थितियां हमारे दिमाग को चेंज करती हैं|
 तो दोस्तो, ये थे कुछ टिप्स, जिनकी मदद से आप आसानी से NDA की तैयारी कर सकते हो|

[6]. ट्रेनिंग (Training)

जब आप सभी एग्जाम को क्लियर कर लेते हैं, तब उसके बाद शुरू होती है- आपकी ट्रेनिंग| ट्रेनिंग पोस्ट के हिसाब से होती है, जो आपने सलेक्ट की है | तो दोस्तो, इस प्रकार ट्रेनिंग पूरी होने के बाद आप आर्मी, एयरफोर्स या नेवी किसी में भी पोस्ट के अनुसार जुड़ सकते हैं|

तो दोस्तो, आपको यह पोस्ट "NDA की तैयारी कैसे करें, स्टडी टिप्स हिन्दी में" कैसी लगी, कमेंट में बताएं और यदि आपका कोई सवाल है तो आप उसे भी कमेंट में पूछ सकते है| आपको किस टॉपिक पर जानकारी चाहिए यह भी आप कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं|
तो दोस्तो, अब आप इस ब्लॉग को subscribe करिए और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करिये|
Thanks for read,

ये भी पढें :
सिंगर बनकर नाम और पैसा कैसे कमायें, जानिये हिन्दी में

Tuesday, May 15, 2018

IAS officer kaise bane, ab padhiye hindi me

 हेलो दोस्तो, आज हम आपको बताएंगे कि आप "IAS ऑफिसर कैसे बनें, अब पढिये हिन्दी में"| आप किस प्रकार एक IAS ऑफिसर बन सकते हो, कितनी पढ़ाई करनी होगी, क्या करना होगा आदि| सबसे पहले तो आप यह जान लो कि IAS क्या होता है ? IAS का फुल फॉर्म Indian Administrative Service होता है| जिसे हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहते हैं|
IAS officer kaise bane, ab padhiye hindi me, IAS officer salary, IAS kya hai, IAS yogyta, IAS power, hindi madhyam se bane IAS, ias ki taiyari kaise kare, IAS ki padhai, IAS ki puri jankari,

दोस्तो, यदि आप ऐसी ही वीडियो youtube पर देखना चाहते हैं, तो नीचे दी नीली लाइन पर क्लिक करें, अपना ही चैनल है subscribe भी कर लेना,

Watch on YouTube

तो दोस्तों बात करते हैं-

[1]. IAS ऑफिसर किसे कहते हैं ?

जो व्यक्ति प्रशासन संबंधी कार्य करते हैं, IAS ऑफिसर कहलाते हैं| जिस प्रकार जिले में DM के कार्य होते हैं, उसी प्रकार IAS के कार्य होते हैं| IAS का पद बहुत ही सम्मानजनक है, परंतु उसे प्राप्त करना भी बहुत कठिन है| सही दिशा, लगन व मेहनत से सब कुछ प्राप्त किया जा सकता है|

[2]. योग्यता (Ability)

1. IAS बनने की इच्छा रखने वाला व्यक्ति इंडिया, नेपाल या भूटान का होना चाहिए|
2. IAS आप साइंस साइड, आर्ट साइड, कॉमर्स या किसी भी स्ट्रीम से बन सकते हो, इसके लिए ग्रेजुएट होना जरूरी है|
3. जनरल कैटेगरी के स्टूडेंट के लिए उम्र 21-32 साल होनी चाहिए तथा जनरल कैटेगरी के स्टूडेंट सिर्फ 6 बार IAS की परीक्षा दे सकते हैं|

ये भी पढें :
एक्टर कैसे बनें, हिन्दी में पढिये

4. ओवीसी (OBC) केटेगरी के स्टूडेंट के लिए उम्र 21-35 साल तक होनी चाहिए तथा इसके कैटेगरी के स्टूडेंट 9 बार IAS की परीक्षा दे सकते हैं|
5. SC/ST केटेगरी के स्टूडेंट के लिए उम्र 21-37 साल होने तक होनी चाहिए तथा इस कैटेगरी के स्टूडेंट, जितनी बार चाहें, इस एग्जाम को दे सकते हैं|
6. शारीरिक रूप से अयोग्य स्टूडेंट की उम्र 21-42 तक होनी चाहिए तथा यदि स्टूडेंट जनरल या ओबीसी कैटेगरी से है तो वह 9 बार इस परीक्षा को दे सकता है तथा यदि स्टूडेंट्स SC/ST कैटेगरी से है, तो वह जितनी बार चाहे, परीक्षा दे सकता है|
7. यदि स्टूडेंट जम्मू एंड कश्मीर दोमिसिले (Jammu and Kashmir domicile) से है| तो उसमें जनरल कैटेगरी वालों के लिए आयु सीमा 37 साल और OBC कैटेगरी के स्टूडेंट के लिए 40 साल तथा SC/ST के लिए 42 साल और शारीरिक रूप से वांछित स्टूडेंट के लिए 50 साल रखी गई है|
8. शारीरिक रूप से अयोग्य सर्विसमैन और ड्यूटी न कर पाने वाले स्टूडेंट के लिए जनरल कैटेगरी में उम्र सीमा 37 साल, OBC कैटेगरी वालों के लिए 38 साल और SC/ST कैटेगरी वालों के लिए 40 साल रखी गई है|

[3]. IAS के लिए परीक्षाएं (Exams for IAS)

ग्रेजुएशन पूरी होने के बाद आपको UPSC एग्जाम के लिए अप्लाई करना होगा, जिसमें 3 मैन एग्जाम होते हैं| जो इस प्रकार हैं-

ये भी पढें :

अपना करियर कैसे चुनें, हिन्दी में

1. प्रेलिमिनारी एग्जाम (The preliminary exam)

प्रेलिमिनारी एग्जाम में 2 पेपर होते हैं| दोनों 200-200 के होते हैं तथा दोनों में ही चार विकल्प वाले सवाल होते हैं| यह परीक्षा जुलाई-अगस्त में होती है| इस एग्जाम को क्लियर किए बिना आप IAS ऑफिसर नहीं बन सकते| इस एग्जाम को क्लियर करने के बाद दूसरा एग्जाम होता है, जिसे मैन एग्जाम कहते हैं|

2. मैन एग्जाम (Main exam)

इस एग्जाम में नौ पेपर देने होते हैं तथा इस एग्जाम को पास करना बहुत ही मुश्किल होता है| यह एग्जाम दिसंबर-जनवरी में होती है| बहुत से छात्र इस एग्जाम को क्लियर नहीं कर पाते| यदि आप इस एग्जाम को अच्छे मार्क्स से पास करना चाहते हैं, तो आपको पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान देना होगा, तभी आप इस एग्जाम को क्लियर कर पाएंगे| मैन एग्जाम को क्लियर करने के बाद इंटरव्यू लिया जाता है|

3. इंटरव्यू (Interview)

प्रेलिमिनारी एग्जाम और मेन एग्जाम को क्लियर करने के बाद काउंसलिंग की जाती है, जिसमें चयनित छात्रों का इंटरव्यू लिया जाता है|यह इंटरव्यू 45 मिनट का होता है| इंटरव्यू में बहुत ही ट्रिकी सवाल पूछे जाते हैं तथा पर्सनालिटी पर भी ध्यान दिया जाता है| IAS की परीक्षा इंडिया की सभी परीक्षाओं में सबसे कठिन मानी जाती है| इसे पास करने के लिए अत्यधिक मेहनत की जरूरत होती है|

[4]. तैयारी कैसे करें ?

IAS की तैयारी के लिए आप 6 से 12 तक की NCERT की पुस्तकें का अच्छी तरह से रिवीजन कर लें| पत्र-पत्रिकाओं के माध्यम से तैयारी करें| करंट अफेयर्स पर भी ध्यान दें| UPSC की किताबों से तैयारी करें| आपका अच्छा बजट है तो कोचिंग ज्वाइन कर लें| आप ऑनलाइन तैयारी भी कर सकते हैं|

[5]. ट्रेनिंग (Training)

IAS की ट्रेनिंग 3 जोन में होती है| जो इस प्रकार है-

1. फाउंडेशन कोर्स (Foundation course)

इस जोन में आपको 3 महीने IPS और IFS ऑफिसर के साथ लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटिव (LBSNAA) मसूरी में गुजारने होते हैं| यहाँ आपको लॉ से लेकर एडमिनिस्ट्रेटिव तक की पूरी जानकारी दी जाती है|

2. भारत दर्शन (Bharat Darshan)

ये भी पढें :
 इंजीनियर कैसे बनें,

इस जोन में आपको 9-10 राज्य घूमने का मौका मिलता है| इस अवधि में आपको कई मंत्रियों, संगठनों और लोगों से मिलने का मौका मिलता है|

3. फेज-1 (Phase-1)

इस जोन में भारत दर्शन कंप्लीट होने के बाद आप फिर से LBSNAA में आते हैं| एक बात और आपको संसद भवन जाने का मौका भी मिल सकता है| वापस आने के बाद आपको राष्ट्रपति द्वारा जोइनिंग लेटर दिया जाता है, इस प्रकार आप बन जाते हैं एक IAS ऑफिसर|

[6]. वेतन और भत्ता

IAS का वेतन 60,000 ₹ से शुरू होकर 2.5 लाख तक होता है तथा बहुत से प्रकार के भत्ते दिए जाते हैं| IAS के लिए एक गाड़ी मुफ्त दी जाती है| IAS ऑफिसर का टेलीफोन बिल व बिजली बिल फ्री होता है| यदि कहीं प्राइवेट क्षेत्र में रहना पड़ता है, तो टोटल खर्चा सरकार देती है और भी बहुत से भत्ते दिए जाते हैं|

तो दोस्तो, आपको यह पोस्ट "IAS ऑफिसर कैसे बनें, अब पढिये हिन्दी में" कैसी लगी, कमेंट में बताएं और यदि आपका कोई सवाल है तो आप उसे भी कमेंट में पूछ सकते है| आपको किस टॉपिक पर जानकारी चाहिए यह भी आप कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं|
तो दोस्तो, अब आप इस ब्लॉग को subscribe करिए और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करिये|
Thanks for read,

ये भी पढें :
पॉलीटेक्निक डिप्लोमा क्या है, इसमें करियर कैसे बनायें

Thursday, May 10, 2018

IIT ki taiyari kaise kare, hit tips hindi me

हेलो दोस्तो, आज हम आपको बताएंगे कि "IIT की तैयारी कैसे करें, हिट टिप्स हिन्दी में"| इस पोस्ट में हम आपको यह भी बताएंगे कि IIT करने में कुल कितना खर्चा आएगा| पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए इसे अंत तक पढ़ें|
IIT ki taiyari kaise kare, hit tips hindi me, iit kya hai, iit ke liye yogyta, coaching ke bina IIT ke liye taiyar karne ke liye kaise, IIT prashn, IIT ke bare me jankari, IIT 2018, iit in hindi,

दोस्तो, यदि आप ऐसी ही वीडियो youtube पर देखना चाहते हैं, तो नीचे दी नीली लाइन पर क्लिक करें, अपना ही चैनल है subscribe भी कर लेना,

Watch on YouTube

तो दोस्तो, शुरू करते हैं-

[1]. IIT की शुरुआत कैसे हुई ?

IIT यानी भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भारत के सभी शिक्षण संस्थानों में से सबसे बेहतर है| सन 1946 ई० में जुगेंद्र सिंह ने एक कमेटी बनाई थी| इसके बाद सबसे पहली प्रौद्योगिकी संस्थान की स्थापना 1950 ई० में खड़गपुर में हुई| इसके बाद पूरे भारत में धीरे-धीरे अन्य प्रौद्योगिकी संस्थान खोले जाने लगे| तो दोस्तो, इस प्रकार हुई थी, IIT की शुरुआत|

[2]. IIT क्या है ? (What is IIT)

IIT का फुल फॉर्म है- Indian Institute of Technology. हिंदी में इसका अर्थ- भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान है| IIT उन विद्यार्थियों के लिए अच्छा ऑप्शन है जो सिविल इंजीनियर बनना चाहते हैं या वैज्ञानिक बनना चाहते हैं| IIT करना बहुत ही सम्मानजनक है किंतु कठिन भी है| यदि आप IIT को व्यवस्थित ढंग से करते हो, तो कोई कठिनाई नहीं आएगी|

[3]. IIT के लिए शैक्षणिक योग्यता

ये भी पढेें:
अपना करियर कैसे चुनें, हिन्दी में

IIT को 12वीं के बाद किया जाता है| IIT को वही छात्र कर सकते हैं जिन्होंने साइंस साइड ली हो तथा मैथ लिया हो| जो छात्र 11वीं और 12वीं में ध्यान से पढ़ लेते हैं, उन्हें IIT करने में कोई परेशानी नहीं होती है| यदि आप अभी हाई स्कूल में हैं, तो आपको 11वीं में साइंस साइड से मैथ लेना है और पूरा ध्यान पढ़ाई पर देना है, तभी आप IIT में सफलता प्राप्त कर पाएंगे|

[4]. प्रवेश परीक्षा (Entrance exam)

IIT की प्रवेश परीक्षा JEE (Joint Entrance Exam) के आधार पर होती है तथा दो भागों में होती है- मैन तथा एडवांस| जो छात्र JEE की मैन प्रवेश परीक्षा में पास हो जाते हैं, उन्हें ही एडवांस प्रवेश परीक्षा करने की अनुमति दी जाती है| IIT के भारत में 32 बोर्ड हैं, इसलिए सीट निश्चित हैं|

[5]. तैयारी कैसे करें

1. परीक्षा चाहे कोई भी हो, उसे पास करने के लिए टाइम टेबल बनाना जरूरी है| इसलिए सभी विषयों को ध्यान में रखते हुए एक अच्छा टाइम टेबल बनाएं और उस पर अमल करें, तभी सफलता पाई जा सकती है|
2. वैसे तो IIT की तैयारी करने में कोचिंग संस्थान का अहम रोल होता है, परंतु कोचिंग संस्थान से तैयारी करने में पैसा बहुत ज्यादा खर्च होता है| यदि आपका बजट कम है तो आप रेफ्रेंस बुक खरीद लें और सेल्फ स्टडी करना प्रारंभ कर दें, आपका काम चल जाएगा| आज के समय में रेफ्रेंस बुक में सब कुछ होता है, आप चाहें तो रेफ्रेंस बुक से ही तैयारी कर सकते हैं|

ये भी पढेें:
सिंगर बनकर नाम और पैसा कैसे कमायें, जानिये हिन्दी में

3. IIT के पेपर में 45% 11वीं के व 55% 12वीं के प्रश्न आते हैं| यदि भौतिक, रसायन व गणित पर आपकी अच्छी पकड़ है, तो आप इंटर के साथ साथ ही IIT की तैयारी भी कर सकते हो, जिससे आपको इंटर के बाद बहुत फायदा मिलेगा|
4. IIT के पुराने पेपर व मॉडल पेपर को हल करें, क्योंकि IIT के परीक्षा में समय का बहुत महत्व होता है| परीक्षा में आपको एक निश्चित समय में पूरा पेपर हल करना है, इसलिए निश्चित समय में पेपर को हल करने का अभ्यास करें| पुराने पेपर को निश्चित समय में हल करना, तैयारी करने का एक बेस्ट तरीका है|
5. आप चाहें तो IIT की तैयारी ऑनलाइन भी कर सकते हैं| आपको YouTube पर ऐसे बहुत से चैनल मिल जाएंगे, जहां से आप घर बैठे फ्री में IIT की तैयारी कर सकते हो| YouTube पर आप Etoos education चैनल को देख कर IIT की तैयारी कर सकते हो| YouTube पर कुछ ऐसे लोगों ने भी वीडियो डाल दी हैं, जिन्हें अच्छी जानकारी नहीं है, उनसे बचकर रहें|
6. किसी भी परीक्षा को पास करने में सोच का बहुत बड़ा योगदान होता है, इसलिए हमेशा पॉजिटिव सोचें, और नेगेटिविटी से दूर रहें| हमेशा ये सोचें कि मैं इस परीक्षा को पास कर सकता हूं, क्योंकि मैंने तैयारी की है, कितनी तैयारी की है, यह आपको स्वयं पता है|
7. परीक्षा के समय 15-16 घंटे न पढ़कर केवल 7-8 घंटे ही पढें और 5-6 घंटे नींद लें और हमेशा प्रसन्न रहें| मानसिक दबाव में ना रहें| परीक्षा भवन में 15 मिनट पहले पहुंचे|
तो ये थे कुछ टिप्स, जिन्हें फॉलो करके आप बड़ी आसानी से IIT की परीक्षा पास कर सकते हो|

[6]. फीस

ये भी पढेें:

यदि आप केवल कोचिंग से तैयारी कर रहे हो, तो 30,000-35,000 ₹ का खर्चा आता है| यदि आप कहीं रहकर तैयारी कर रहे हो, तो 1 साल का एक लाख ₹ का खर्च आता है|

[7] IIT के फायदे

IIT के बहुत से फायदे हैं| जैसे- सिविल इंजीनियर, वैज्ञानिक आदि बनने में| IIT के बाद आप B. Tech कर सकते हो तथा B. Tech के बाद आप M. Tech या Ph. D कर सकते हो|

[8]. प्रमुख प्रौद्योगिकी संस्थान (Best Institute of technology)

1. आईआईटी बीएचयू वाराणसी (IIT BHU Varanasi)
2. आईआईटी भुवेनश्वर (IIT Bhuvneshwar)
3. आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi)
4. आईआईटी मुंबई (IIT Mumbai)
5. आईआईटी रूडकी (IIT Rudki)
6. आईआईटी गुवाहाटी (IIT Guwahati)
7. आईआईटी कानपुर (IIT Kanpur)
8. आईआईटी चेन्नई (IIT Chennai)
9. आईआईटी मंडी (IIT Mandi)
10. आईआईटी पटना (IIT Patna)
11. आईआईटी राजस्थान (IIT Rajasthan)
12. आईआईटी रोपड़ (IIT Ropad)
13. आईआईटी इंदौर (IIT Indore)
14. आईआईटी हैदराबाद (IIT Hyderabad)
15. आईआईटी गांधीनगर (IIT Gandhinagar)
16. आईआईटी खड़गपुर (IIT Kharagpur)
17. आईएसएम धनबाद (ISM Dhanbad)

तो दोस्तो, आपको यह पोस्ट "IIT की तैयारी कैसे करें, हिट टिप्स हिन्दी में" कैसी लगी, कमेंट में बताएं और यदि आपका कोई सवाल है तो आप उसे भी कमेंट में पूछ सकते है| आपको किस टॉपिक पर जानकारी चाहिए यह भी आप कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं|
तो दोस्तो, अब आप इस ब्लॉग को subscribe करिए और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करिये|
Thanks for read,

ये भी पढेें:
शॉर्ट मूवी कैसे बनायें और उससे पैसे कैसे कमायें

Sunday, May 6, 2018

polytechnic ki taiyari kaise kare, mool mantra hindi me

हेलो दोस्तो, आज हम आपको बताएंगे कि आप "पॉलीटेक्निक की तैयारी कैसे करें, मूलमंत्र हिन्दी में" और इसमें आप अपना करियर किस प्रकार बना सकते हो ? ज्यादातर विद्यार्थियों का सपना जॉब करने का ही होता है इसलिए इसमें पॉलीटेक्निक सबसे अच्छा ऑप्शन है| पॉलीटेक्निक की खास बात यह है कि इसमें बहुत सारे क्षेत्र हैं| आप जिस क्षेत्र में जॉब करना चाहें, कर सकते हैं|

दोस्तो, यदि आप ऐसी ही वीडियो youtube पर देखना चाहते हैं, तो नीचे दी नीली लाइन पर क्लिक करें, अपना ही चैनल है subscribe भी कर लेना,

Watch on YouTube

तो दोस्तो, बात करते हैं-
polytechnic ki taiyari kaise kare, mool mantra hindi me, polytechnic ki taiyari kaise kare in hindi, polytechnic paper 2018, polytechnic paper, polytechnic model paper in hindi 2018, polytechnic paper 2018, polytechnic vishay, polytechnic me career kaise banayen,

How to become an actor, actor kaise bane hindi mei 

[1]. पॉलीटेक्निक क्या है ?

(What is polytechnic ?)

पॉलीटेक्निक दो शब्दों से मिलकर बना है- पॉली+टेक्निक| पॉली का मतलब होता है बहुत सारी कलाएँ सीखना तथा टेक्निक का मतलब होता है टेक्नोलॉजी से संबंधित अर्थात वह डिप्लोमा जिसमें हम टेक्नोलॉजी, मैकेनिकल, इंजीनियरिंग आदि और बहुत सी कलाएँ सीखते हैं, पॉलीटेक्निक डिप्लोमा कहलाता है|

[2]. पॉलीटेक्निक के लिए शैक्षणिक योग्यता

 पॉलीटेक्निक के लिए किसी खास योग्यता की जरूरत नहीं होती है| इसे आप हाई स्कूल के बाद कर सकते हो तथा इंटर के बाद भी कर सकते हो| यदि आप पॉलीटेक्निक डिप्लोमा हाईस्कूल के बाद करते हो तो यह 3 वर्ष का होता है तथा यदि इंटर के बाद करते हो तो यह 2 वर्ष का होता है| पॉलीटेक्निक कोर्स को वही विद्यार्थी कर सकते हैं जिन्होंने हाई स्कूल में मैथ तथा इंटर में फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा मैथ लिया हो|

[3]. पॉलीटेक्निक एंट्रैस एग्जाम

(Polytechnic entrance exam)

पॉलीटेक्निक डिप्लोमा करने के लिए किसी अच्छे कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए हमें एक एंट्रेंस एग्जाम देना होता है| एंट्रेंस एग्जाम के लिए पॉलिटेक्निक का फार्म भरा जाता है| एंट्रेंस एग्जाम की रैंक के अनुसार ही हमें कॉलेज मिलता है| एंट्रेंस एग्जाम के पेपर में 50 प्रश्न गणित के तथा 50 प्रश्न भौतिक विज्ञान तथा रसायन विज्ञान के होते हैं तथा सभी प्रश्न बहुविकल्पीय होते हैं|

[4]. काउंसलिंग (Counseling)

एंट्रेंस एग्जाम के बाद काउंसलिंग की जाती है|जिसमें एंट्रेंस एग्जाम के अनुसार हमारी रैंक अच्छी नहीं आती है तो हमें प्राइवेट कॉलेज मिलता है, जहां पर 30000-35000 ₹ खर्च करके हमें पॉलीटेक्निक का डिप्लोमा मिलता है| इसके विपरीत यदि हमारी रैंक अच्छी आती है तो हमें सरकारी कॉलेज मिलती है, जहां 10000-12000 ₹ में काम चल जाता है|

[5]. पॉलीटेक्निक की पढाई

How to be a civil engineer in hindi (civil engineer kaise bane) 

काउंसलिंग के बाद किसी अच्छे कॉलेज में हमारा एडमिशन हो जाता है, जहां पर हमको 2 या 3 वर्ष नियमित रूप से पढ़ाई करनी होती है| पढ़ाई करने के लिए ऐसा कोर्स या क्षेत्र चुनें, जो आपको अच्छा लगता हो, जिसे पढ़ते समय आपका मन लगे| कोर्स चुनते समय जल्दबाजी न करें| नीचे कोर्स की लिस्ट दी गई है जिसे आप एक बार पढ़ लें| पॉलीटेक्निक डिप्लोमा के बाद आप जॉब कर सकते हैं या आगे भी पढ़ सकते हैं| पॉलीटेक्निक डिप्लोमा के बाद यदि आप B. Tech करते हैं, तो आप सीधे B. Tech के सेकेंड ईयर में पहुंच जाते हैं| B. Tech के बाद आप M. Tech कर सकते हैं|

[6]. पॉलीटेक्निक डिप्लोमा करने के फायदे

पॉलीटेक्निक डिप्लोमा करने के बहुत से फायदे हैं| हमें अपने मनमर्जी क्षेत्र में जॉब मिल जाती है| पॉलीटेक्निक डिप्लोमा से हमें किसी भी कंपनी में बड़ी आसानी से जॉब मिल जाती है| आजकल ज्यादातर कंपनियां भी पॉलीटेक्निक डिप्लोमा की मांग करती हैं|

[7]. नौकरी और वेतन (Job and salary)

पॉलीटेक्निक डिप्लोमा करने के बाद आप सरकारी और प्राइवेट दोनों क्षेत्रों में जॉब कर सकते हो| सरकारी जॉब आप रेलवे, मैकेनिकल तथा और भी बहुत से क्षेत्र हैं, जहां कर सकते हो तथा प्राइवेट जॉब आप NTPC लिमिटेड, पावर ग्रिड कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया, इंडियन ऑयल, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड, भारत पेट्रोलियम, टाटा मोटर्स तथा और भी बहुत से क्षेत्र हैं, जहां पर जॉब कर सकते हो| इसके अलावा आप स्वरोजगार भी कर सकते हो|

Apna career kaise chune, how to choose your career in hindi 

शुरू में आपको 15000-20000 ₹ प्रतिमाह वेतन मिलता है| बाद में आपकी योग्यता एवं कार्य क्षमता के अनुसार वेतन बढ़ा दिया जाता है| यदि आप स्वरोजगार करते हो तो वेतन निश्चित नहीं है|

[8]. भारत के टॉप कॉलेज

(Top college of India)

1. Government Polytechnic , Mumbai
2. S H Jondhale Polytechnic Thane
3. V.P.M.’s Polytechnic Thane
4. Vivekanand Education Society’s Polytechnic Mumbai
5. Adesh Polytechnic College Muktsar
6. Anjuman Polytechnic Nagpur
7. Agnel Polytechnic Navi Mumbai
8. Chhotu Ram Polytechnic Rohtak
9. Adhiparasakthi Polytechnic College Kanchipuram
10. MEI Polytechnic Bangalore
11. Government Polytechnic Pune

[9]. पॉलीटेक्निक कोर्स (Polytechnic course)

Architectural Assistantship
Automobile Engineering
Chemical Engineering
Civil Engineering
Computer Engineering
Computer Science And Engineering
Electrical Engineering
Electronics And Communication Engineering
Electronics And Communication Engineering – Industry Integrated
Electrical And Electronics Engineering
Electronics (Microprocessor)
Electronics And Telecommunication Engineering
Fashion Design
Food Technology
Garment Technology
Information Technology
Instrumentation Technology
Interior Design And Decoration
Leather Technology
Leather Technology (Footwear)
Library And Information Sciences
Mechanical Engineering
Mechanical Engineering (Refrigeration And Air Conditioning)
Mechanical Engineering (Tool And Die)
Marine Engineering
Medical Laboratory Technology
Plastic Technology
Production And Industrial Engineering
Textile Design
Textile Processing
Textile Technology

तो दोस्तो, आपको यह पोस्ट "पॉलीटेक्निक की तैयारी कैसे करें, मूलमंत्र हिन्दी में" कैसी लगी, कमेंट में बताएं और यदि आपका कोई सवाल है तो आप उसे भी कमेंट में पूछ सकते है| आपको किस टॉपिक पर जानकारी चाहिए यह भी आप कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं|
तो दोस्तो, अब आप इस ब्लॉग को subscribe करिए और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करिये|
Thanks for read,

Film director kaise bane ab jano hindi mei