Search This Blog

Friday, June 22, 2018

board topper kaise bane, kya kare hindi me

दोस्तो, यदि आप ऐसी ही वीडियो youtube पर देखना चाहते हैं, तो नीचे दी नीली लाइन पर क्लिक करें, अपना ही चैनल है subscribe भी कर लेना,

Watch on YouTube

हेलो दोस्तो, आज हम आपको बताएंगे कि आप "बोर्ड टॉपर कैसे बनें, क्या करें हिन्दी में" ? आजकल केवल बोर्ड परीक्षा में पास होना कोई कठिन कार्य नहीं रह गया है| आजकल कंम्पटीशन का समय है| बोर्ड परीक्षा में हर कोई ज्यादा से ज्यादा मार्क लाना चाहता है| ऐसे में आप किस प्रकार बोर्ड टॉपर बन सकते हो ? कितनी पढ़ाई करनी होगी ? आदि के बारे में हम नीचे स्टेप बाई स्टेप बात करेंगे|
board topper kaise bane, kya kare hindi me, exam me kaise likhe, board pariksha ki taiyari kaise kare, bihar topper kaise bane, jaldi yad kaise kare, 10th ki padhai kaise kare, 10th me top kaise kare, pariksha ki taiyari tips, 12th me top kaise kare,

तो दोस्तो, शुरू करते हैं-

[1]. टाइम टेबल बनाएं

बोर्ड टॉपर बनने के लिए टाइम टेबल को बनाना और उसे फॉलो करना बहुत ही जरूरी है| टाइम टेबल बनाते समय प्रत्येक विषय को समय दें| प्रत्येक 45 मिनट के बाद 15 मिनट का ब्रेक रखें| जिस सब्जेक्ट में आप ज्यादा वीक हों या जिस सब्जेक्ट को पढ़ने में आपका इंटरेस्ट न हो, उसे टाइम टेबल में सबसे पहले रखें| गणित को टाइम टेबल में सबसे बाद में रखें या फिर गणित का अध्ययन सोने से पहले करें| तो दोस्तो, टाइम टेबल बनाना ही जरूरी नहीं है, बल्कि उसे फॉलो करना भी जरूरी है|

[2]. स्कूल क्लास में पढ़ाई

स्कूल की क्लास में रेगुलर पढ़ाई करें| कुछ छात्रों का भ्रम होता है कि क्लास में न पढ़ेंगे तो क्या, कोचिंग में पढ़ लेंगे| जबकि हकीकत यह है कि किसी कांसेप्ट को आप क्लास में पढें,  फिर कोचिंग में पढें (यदि कोचिंग ज्वाइन की है तो, वैसे जरूरी नहीं है|), फिर घर पर उसका रिवीजन करें, तब आप उस कांसेप्ट को पूरी तरह से तैयार कर पाओगे| यदि आपका कोई पीरियड खाली है, तब आप गणित या फिजिक्स के न्यूमेरिकल हल करें| तो दोस्तो, क्लास में पढ़ाई करना जरूरी है, इसे नोट कर लें|

[3]. रेगुलर अध्ययन करें

जैसे ही क्लास लगना शुरू हों, आपको टाइम टेबल बनाकर अध्ययन करना शुरू कर देना चाहिए| कुछ छात्र यहां भी गलती कर देते हैं, वे रेगुलर अध्ययन नहीं करते हैं, लेकिन जब परीक्षा निकट आती है, तब अध्ययन करना प्रारंभ करते हैं| तो दोस्तो, इस प्रकार आप टॉपर नहीं बन सकते, इस प्रकार तो पास होना भी कठिन है|

[4]. लिखने की आदत डालें

परीक्षा देते समय आपके पास लिखने के लिए मात्र 3 घंटे होते हैं| यदि आपको लिखने का सही अभ्यास नहीं है, तो आप पूरे पेपर को हल नहीं कर पाएंगे, जबकि टॉपर बनने के लिए पूरे पेपर को हल करना आवश्यक है, तो इसलिए लिखने की आदत डालें| यदि आपको लिखने की आदत होगी, तो आपका लेख भी अच्छा रहेगा तथा आप परीक्षा में भी आसानी से लिख पाएंगे|

[5]. सुबह जल्दी उठकर अध्ययन करें

सबसे पहली प्रॉब्लम तो यही होती है कि सुबह जल्दी उठ ही नहीं पाते, क्योंकि देर रात तक पढ़ाई करते हैं| तो सबसे पहले देर रात तक पढाई न करें, बल्कि सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई करने की आदत बनायें| सुबह का मौसम भी सुहावना होता है तथा वातावरण भी शांत होता है, इसलिए सुबह का टाइम पढ़ाई के लिए सबसे बेस्ट होता है|

6. ध्यान एकत्रित करें

ये भी पढे:

बिजनेस कैसे करें, बिजनेसमैन कैसे बनें हिन्दी में


आप मेडिटेशन के बारे में तो जानते होंगे, जिस प्रकार मेडिटेशन में ध्यान एकत्रित किया जाता है, ठीक उसी प्रकार अध्ययन करने के लिए भी ध्यान एकत्रित करना जरूरी है| जब तक हमारा मन पढ़ाई का नहीं होगा, तब तक हम अच्छी पढ़ाई नहीं कर सकते| पढ़ाई करते समय ध्यान पूरी तरह से सिर्फ पढ़ाई पर होना चाहिए|

[7]. पढ़ते समय नोट्स बनाएं

दोस्तो, ये रिवीजन करने का अच्छा तरीका है| नोट्स बनाने से पूरी किताब की जानकारी संक्षेप में मिल जाती है, जिसका एग्जाम के टाइम सरलता से रिविजन किया जा सकता है| यदि आप रेफ्रेंस बुक खरीदते हैं, तो उनमें नोट्स पहले से ही बने हुए आते हैं| आपको कुछ किताबों के नोट्स दो ऑनलाइन प्ले स्टोर पर ऐप के रूप में मिल जाएंगे|

[8]. ध्यान हटाने वाली चीजों से दूर रहें

कुछ वस्तुएं ऐसी होती हैं, जो पढ़ाई से हमारा ध्यान हटाती हैं| जैसे- मोबाइल फोन| ऐसी वस्तुओं को या तो स्वयं से दूर रखना चाहिए या मोबाइल फोन को ऐरोप्लेन मोड पर लगा देना चाहिए| यदि आप ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हो, तो आपके पास Facebook का मैसेंजर एप्प तो होना ही नहीं चाहिए तथा Facebook व WhatsApp की नोटिफिकेशन ऑफ होनी चाहिए| और भी ध्यान हटाने वाली चीजों से दूर रहें|

[9]. पढ़ने वाले बच्चों के साथ रहें

यह बिल्कुल सत्य है कि संगति का असर पड़ता है| इसलिए चाहे कॉलेज हो या घर, हमेशा पढ़ने वाले बच्चों के साथ रहें| ऐसे लड़के/लड़कियों के साथ रहें, जो भविष्य में कुछ करना चाहते हों|

[10]. वीक सब्जेक्ट ज्यादा पढ़ें

यदि आपको टॉपर बनना है तो आपको सभी सब्जेक्ट अच्छे से आने चाहिए| यदि आप किसी सब्जेक्ट में वीक हैं, तो उसे ज्यादा समय दें या उसकी कोचिंग लगा लें| ज्यादातर स्टूडेंट गणित में वीक होते हैं, इसलिए गणित पर ज्यादा ध्यान रखें|

[11]. पुराने व मॉडल पेपर को हल करें

प्रश्नपत्रों में ज्यादातर पुराने प्रश्नपत्रों के प्रश्न ही लिये जाते हैं, इसलिए पुराने पेपर व मॉडल पेपर को जरूर हल करें| पुराने पेपर या मॉडल पेपर को हल करने से हमें 2 फायदे होते हैं, पहला तैयारी भी होती है, दूसरा एक निश्चित समय में पेपर को हल करने की स्किल आ जाती है|

[12]. स्वास्थ्य का ध्यान रखें

ये भी पढे:

फिल्म डायरेक्टर कैसे बनें, अब जानो हिन्दी में


पहला सुख निरोगी काया| यदि आपका स्वास्थ्य अच्छा है, तो आप जो चाहो कर सकते हो| इसलिए हमेशा स्वास्थ्य का ध्यान रखें| खेलने के लिए भी टाइम निकालें, जिससे आपका स्वास्थ्य सही रहे|

[13]. पढ़ाई के बारे में विचार-विमर्श करें

यहां एक बात तो क्लियर है, जिसके पास फालतू टाइम होगा, वह तो फालतू की बात करेगा| लेकिन पढ़ाई आपको करनी है, सोचना आपको चाहिए, कि इन बेकार की बातों से आपका कोई मतलब हल होने वाला नहीं है| आपको ज्यादातर ऑनलाइन हो या ऑफलाइन, पढ़ाई के बारे में विचार-विमर्श करना चाहिए|

[14]. पूरे विषय पर फोकस करें

बोर्ड एग्जाम में पेपर हमेशा पूरे विषय से आता है, इसलिए आपका फोकस पूरे विषय पर होना चाहिए| रेफ्रेंस बुक में तो ये भी लिखा होता है, कि ये प्रश्न महत्वपूर्ण है या नहीं| तो तैयारी करते समय इस बात का भी ध्यान रखें|

[15]. परीक्षा में तनाव को नियंत्रित रखें

ये भी पढे:

इण्टर के बाद क्या करें, करियर ऑप्शन हिन्दी में


अक्सर परीक्षा निकट आते ही छात्रों में पढ़ाई को लेकर तनाव बढ़ जाता है, जिससे बेचैनी भी बढ़ जाती है या बीमार भी हो जाते हैं| तो हमेशा ध्यान रखें कि ये परीक्षा आपके जीवन की अंतिम परीक्षा नहीं है| यदि आपने पूरे वर्ष अच्छी तरह से तैयारी की है, तो मुझे उम्मीद है कि आप भी बोर्ड में टॉप ही आओगे और इस प्रकार आप कहलाओगे बोर्ड टॉपर|

तो दोस्तो, आपको यह पोस्ट "बोर्ड टॉपर कैसे बनें, क्या करें हिन्दी में" कैसी लगी, कमेंट में बताएं और यदि आपका कोई सवाल है तो आप उसे भी कमेंट में पूछ सकते है| आपको किस टॉपिक पर जानकारी चाहिए यह भी आप कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं|
तो दोस्तो, अब आप इस ब्लॉग को subscribe करिए और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करिये|
Thanks for read,

ये भी पढे:

करियर कैसे चुनें, करियर गाइड हिन्दी में

Monday, June 18, 2018

career kaise chune, career guide hindi me

दोस्तो, यदि आप ऐसी ही वीडियो youtube पर देखना चाहते हैं, तो नीचे दी नीली लाइन पर क्लिक करें, अपना ही चैनल है subscribe भी कर लेना,

Watch on YouTube

हेलो दोस्तो, आज हम आपको बताएंगे कि आप अपना "करियर कैसे चुनें, करियर गाइड हिन्दी में"| अक्सर विद्यार्थियों या अन्य लोगों की यही समस्या रहती है कि वे समय पर अपना करियर नहीं चुन पाते| जब वह सोचते हैं कि मुझे क्या बनना है, क्या करना है, तब तक समय निकल चुका होता है| अक्सर जिंदगी में सफल वही लोग होते हैं जिन्हें पता है कि मुझे क्या करना है और क्या बनना है| आज हम आपको ऐसे 5 तरीके बताएंगे जिनसे आप अपना करियर आसानी से चुन सकते हैं|
career kaise chune, career guide hindi me, career par nibandh, apna talent kaise pahchane, career kisme banaye, career par lekh, career kya hai,

सबसे पहली बात तो यह होती है कि हमारे करियर चुनने में 2 लोगों का हाथ होता है, एक हमारा और दूसरा हमारे माता-पिता का| कुछ समय पहले ऐसा होता था कि माता-पिता अपने बच्चों के लिए जिद किया करते थे कि तुझे डॉक्टर ही बनना है या इंजीनियर ही बनना है| परंतु अब ऐसा नहीं है, अब 99% माता-पिता अपने बच्चों के करियर के लिए जिद नहीं करते| वे इतना जरूर कह सकते हैं कि उसके लड़के ने MBA किया और आज उसे 6 लाख का बॉनस मिला है| ऐसी ही और कई बातें भी बता सकते हैं| ऐसे में आपको क्या करना है ?
Singer bankar name aur paisa kaise kamayen, janiye hindi mei 
ऐसे में आपको उनकी सैलरी या बॉनस पर ध्यान नहीं देना है| ऐसे में आपको उनकी मेहनत पर फोकस करना है कि उन्होंने कितनी मेहनत की, तब वे इस स्टेज पर पहुंचे हैं| अक्सर होता यह है कि विद्यार्थी या अन्य लोग दूसरों की सफलता को देखकर अपने करियर को चुन लेते हैं| उन्होंने कितनी मेहनत की या कितना संघर्ष किया, इस पर गौर नहीं करते हैं और अंत में जाकर असफल हो जाते हैं|
आप एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि "सुनो सब की, करो मन की" क्योंकि आपको आपसे ज्यादा अच्छी तरह से कोई नहीं जानता, यहां तक कि आपके माता-पिता भी नहीं| आप यह अच्छी तरह से जानते हैं कि आप कितनी मेहनत कर सकते हैं| आपका इंटरेस्ट किसमें है ? किसी  दूसरे के कहने में आकर अपना करियर ना चुनें| मतलब किसी ने कह दिया कि इंजीनियरिंग में बहुत फायदा है, इतनी सैलरी मिलती है, इतनी ऊपरी कमाई हो जाती है और दो-चार मीठी बातें कह दी| तो ऐसा न करें आप इंजीनियरिंग को ही अपना करियर चुन लें|
film director kaise bane, ab jano hindi mei
तो दोस्तो, अब बात करते हैं कि वे 5 बातें कौन सी हैं, जिनकी मदद से आप आसानी से अपना करियर चुन सकते हैं|

[1]. Aptitude (कुछ करने की प्राक्रतिक योग्यता)

प्रकृति ने सभी को कुछ ना कुछ प्राकृतिक योग्यता या टैलेंट दिया है, जैसे- डांस करना, खेलना, दिमाग लगाना| मतलब कोई शुरू से ही अच्छा डांस कर लेता है, वह डांसिंग में आसानी से करियर बना सकता है| कोई शुरू से ही अच्छा खेलता है, वह खेल जगत में अच्छा करियर बना सकता है| तो दोस्तों आपको करना ये है कि अपने अंदर के टैलेंट को ढूंढना है| जो लोग अपने अंदर के टैलेंट को ढूंढ लेते हैं, वह आसानी से अपना करियर बना लेते हैं|

[2]. Personality (व्यक्तित्व)

व्यक्ति की पर्सनालिटी ही उसकी पहचान होती है| इसलिए आप अपनी पर्सनैलिटी को ध्यान में रखते हुए ही अपना करियर चुनें| करियर चुनते समय देखें कि समाज में आप अपनी इमेज कैसी बनाना चाहते हैं| यदि आपकी पर्सनालिटी अच्छी है, तो समझो कि आपका आधा करियर तो बन गया| यदि आप कहीं जॉब के लिए इंटरव्यू देने जाते हैं, तो वहां सबसे पहले आपकी पर्सनैलिटी ही देखी जाती है| जो व्यक्ति अच्छी पर्सनैलिटी के होते हैं, उनका ही नाम होता है| इसलिए जितना हो सके, अपनी पर्सनैलिटी को अच्छा बनाएं, अच्छे करियर के लिए|

[3]. Interest (रुचि)

ज्यादातर मोटिवेशनल लेक्चरर व करियर काउंसलर यही बताते हैं कि करियर उसी फील्ड में बनाएं, जिसमें आपका इंटरेस्ट हो| क्योंकि जिस काम में आपका इंटरेस्ट होगा, वह काम आपको काम नहीं लगेगा| उसे करने में आपको आनंद आएगा| मान लिया कि किसी काम में आपका इंटरेस्ट नहीं है, तो फिर उस काम को करने में आपका मन भी नहीं लगेगा, जिससे गलतियां होने की संभावना बढ़ जाएगी|
इंटरेस्ट का एक फायदा यह भी है यदि हम किसी चीज को सीख रहे हैं, तो हम उसे बड़ी आसानी से सीख लेते हैं क्योंकि हमें सीखना अच्छा लगता है|आपने गौर किया होगा कि कुछ बच्चे गणित में ज्यादा होशियार होते हैं, इसका भी यही मतलब होता है कि उन्हें गणित में ज्यादा इंटरेस्ट है| तो करियर उसी में बनाएँ, जिसमें आपका इंटरेस्ट हो|
कुछ काम ऐसे भी होते हैं जिनमें शुरू में हमारा इंटरेस्ट नहीं होता है, लेकिन जब करना प्रारंभ कर देते हैं तो इंटरेस्ट आना भी प्रारंभ हो जाता है| कुछ काम ऐसे भी होते हैं, जिनमें हमारा इंटरेस्ट नहीं होता है फिर भी करने पड़ते हैं| तो ऐसे कामों में इंटरेस्ट बनाएं| मान लीजिए अभी आप बारहवीं में पढ़ रहे हैं, आपका इंटरेस्ट गणित में है, तो सिर्फ गणित से काम नहीं चलेगा| आपको अन्य विषयों में भी अपना इंटरेस्ट बनाना पड़ेगा|

[4]. Ability (योग्यता)

यदि अब हमें अपना इंटरेस्ट पता चल गया है, तो अब हमें जरूरत है- योग्यता की| क्योंकि बिना योग्यता के कुछ नहीं होने वाला| मान लिया आपका इंटरेस्ट क्रिकेट में है, परंतु आप क्रिकेट अच्छे से खेलना नहीं जानते, तो आपको उसमें करियर बनाने के लिए उसे अच्छी तरह से खेलना सीखना होगा| अपने आप में इतनी योग्यता करनी होगी कि आप टॉप पर आ सकें| इसलिए योग्यता जरूरी है| इसे बढ़ाएं, जितना हो सके| करियर बनाने में इसका अहम योगदान है|

[5]. What do we want ? (हम क्या चाहते हैं ?)

तो दोस्तो, अब बात आती है कि हम क्या चाहते हैं ? हमें क्या बनना पसंद है और क्यों ? अब आप अपनी सोच के अनुसार निष्कर्ष निकालिए और कमेंट में बताइए कि आपने क्या बनना पसंद किया ? या आप क्या करना चाहते हैं ? किसमें करियर बनाना चाहते हैं ? हम आपकी पूरी तरह से सहायता करेंगे, बस आप कमेंट में अपना सवाल या विचार लिख दीजिए|

तो दोस्तो, आपको यह पोस्ट "करियर कैसे चुनें, करियर गाइड हिन्दी में" कैसी लगी, कमेंट में बताएं और यदि आपका कोई सवाल है तो आप उसे भी कमेंट में पूछ सकते है| आपको किस टॉपिक पर जानकारी चाहिए यह भी आप कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं|
तो दोस्तो, अब आप इस ब्लॉग को subscribe करिए और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करिये|
Thanks for read,
how to be a MBBS doctor ? (डॉक्टर कैसे बनें, पूरी जानकारी हिन्दी में)